Archive

International Journal of Contemporary Research In Multidisciplinary, 2023;2(5):58-61

भूमंडलीकरण के दौर में भारतीय संस्कृति की अवस्थिति

Author : सर्वेश यादव

Abstract

इस समीक्षा लेख में वैश्विकीकरण की अवबोधना को गहराई से समझाने का प्रयास किया गया है जिसमें इसके विविध आयामों और प्रभावों को प्रकट किया गया है। इसका महत्वपूर्ण बिंदु है कि वैश्विकीकरण एक प्रक्रिया है जिसमें सभी देशों के बाजार, वस्तुएं और जानकारी को एकीकृत करने और एक सांगठन में लाने का प्रयास होता है जिसके परिणामस्वरूप एक देश की वस्तुएं, व्यक्तियों और जानकारी को किसी दूसरे देश में किसी प्रकार की बाध्यता के बिना स्वीकार किया जाता है ।

Keywords

वैश्विकीकरण, आर्थिक सहयोग, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार, भूमंडलीकरण के प्रभाव, विश्वव्यापी सघटन